भूतबंगला 3

दिव्य तलवार के मेरे हाथ में आते ही मेरे सब घाव अपने आप ठीक हो गए और मेरे शरीर में नया बल और उत्साह आ गया। मैंने तलवार से चुड़ैल के दोनों पैर भी काट दिए। चुड़ैल पीड़ा से तड़पने लगी। अचानक वह एक सुंदर स्त्री में बदल गई और रो-रो कर मुझसे दया की …

भूतबंगला 4

भूत बंगला भाग 4 अब वह प्रेत एक सात्विक मनुष्य के रूप में मेरे साथ बंगले में ही रहने लगा कुछ घंटे हर रोज मेरे आदेशानुसार एक पुस्तक लिखता और शेष समय वह बंगले की साफ-सफाई, मरम्मत, बगीचे में कार्य आदि करता रहता। प्रेत से मैंने प्रेतों व प्रेत लोक के बारे में कई जानकारियां …

भूतबंगला 2

भूत बंगला भाग 2लेखक शक्ति सिंह नेगी कुछ ही दूरी पर एक विशाल हिम मानव सा प्राणी एक जिंदे इंसान को खा रहा था। मैंने अपने कुलदेव का स्मरण किया। और तलवार एक भाले की तरह उस भयानक प्राणी पर फेंकी। तलवार उसकी छाती में धंस गई। वो विशाल बालों से भरे शरीर वाला दानव …

गढवाल का इतिहास 2

गढ़वाल उत्तराखंड का इतिहास कत्यूरी राजवंश के पतन के बाद उत्तराखंड छोटे-छोटे हिस्सों में बंट गया। ये हिस्से ठाकुराइयां कहलाते थे। आगे चलकर ये गढ़वाल, कुमाऊं व सिरमौर राज्यों के रूप में विकसित हुए। रामपुर, सहारनपुर, अल्मोड़ा, बिजनौर के सीमांत क्षेत्र गढ देश के अंतर्गत थे। गढ़ देश के पूर्व में नंदा देवी, चांदपुर का …

गढवाल का इतिहास 1

गढ़वाल (उत्तराखंड) का इतिहास इस समय गढ़वाल में दो मंडल हैं। एक कुमाऊं मंडल और एक गढ़वाल मंडल। इस समय उत्तराखंड में 13 जिले हैं। इसमें सात जिले गढ़वाल मंडल में और 6 जिले कुमाऊं मंडल में हैं। प्राचीन समय में गढ़वाल एक राज्य हुआ करता था और कुमाऊं भी एक राज्य हुआ करता था। …

अप्सरा

પિશાચ લેખક- શક્તિસિંહ નેગી બહાર નીકળો રૂપા. દેવરાજ ઇન્દ્રએ રૂપાને શાપ આપ્યો અને કહ્યું. તમારું મન સ્વર્ગના કાર્યોમાં રોકાયેલું નથી. જાઓ, તમે પૃથ્વી વિશ્વમાં રહેશો. દેવરાજ ઇન્દ્રે મને માફ કરી દીધા – રૂપા સમજાવટ સાથે કહ્યું. ઇન્દ્ર થોડો પરસેવો આવે છે. કહ્યું ઠીક પણ તમે 1000 વર્ષ પૃથ્વી પર રહેશો. રૂપાએ રાહતનો શ્વાસ લીધો. રૂપા …

खानवा का युद्ध और महाराणा सांगा

खानवा का युद्ध राणा सांगा चित्तौड़ की महारथी योद्धा राजा थे। राणा के विशाल शक्तिशाली शरीर पर लगे घावों से राणा की वीरता झलकती थी। उन दिनों दिल्ली पर इब्राहिम लोदी का शासन था। इब्राहिम एक नाकारा शासक था। उधर फरगना का छोटा सा राजा बाबर अपने क्षेत्र में युद्धों से जूझ रहा था। बार-बार …

बेरोजगारी और विदेशी ऋण

प्रिय मित्रों जैसे- जैसे विदेशी धन बढ़ता जा रहा है। वैसे- वैसे बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। सरकार को चाहिए कि वह विदेशी ऋण किसी तरह से समाप्त करें दे। जिससे रोजगार में बढ़ावा प्राप्त होगा। बेरोजगारी और विदेशी ऋण

राणा प्रताप और हल्दीघाटी का युद्ध

राणा प्रताप मेवाड़ के यशस्वी योद्धा राजा हैं। 7.5 फीट लंबे व तगड़े राणा अपने महल के कक्ष में कुछ सोचते हुए टहल रहे हैं। अचानक ही द्वारपाल आकर महाराणा को सूचना देता है कि राजा मानसिंह अकबर का संदेश लेकर आए हैं। राणा सिर हिला कर अनुमति देते हैं। मानसिंह अंदर आते हैं। मान …

Create your website with WordPress.com
प्रारंभ करें